Blogger vs WordPress in Hindi Part-1

हेलो दोस्तों आज हम ब्लॉग्गिंग कोर्स शुरू करने जा रहे हैं इसमें हम सभी जानकरी पार्ट के माध्यम से जानेंगें, अगर आप ब्लॉग्गिंग सीखना चाहते हैं तो आप हमारे इन सभी पार्ट को अच्छे से पढियेगा.

ब्लॉग्गिंग का पहला पार्ट हम शुरू करने जा रहे हैं Blogger vs WordPress in Hindi, इसके अलावा इसमें हम ब्लॉग्गिंग करने के बारे में पूरी जानकारी देंगें, Blogging करने से पहले लोगो के मन में सबसे पहले सवाल उठता है कि Blogging करने के लिए सबसे अच्छा plateform कौन सा है यानि कि अगर हम Blogging करे तो किस plateform का सहारा लें.

जिससे हम आगे बढ़ सके और एक Successful Blogger बन सके वैसे तो Blogging Start करने के लिए बहुत से प्लेटफोर्म हैं जैसे- Blogger, WordPress, Tumbler, Weebly, Wix etc.

Blogger vs WordPress in Hindi-2

ये सभी ऐसे Plateform है जिस पर आप Blogging Start कर सकते हैं इनमे से जो प्लेटफोर्म चालित और चर्चित है वो Blogger और WordPress है, ये दोनों ऐसे Plateform है जो Blogging की दुनिया में सबसे ज्यादा फेमस और सक्सेसफुल हैं.

अगर आपने इन दो फेमस प्लेटफोर्म ब्लॉगर और वर्डप्रेस के बारे में सुना है तो आपके मन में एक सवाल आता होगा वो ये सवाल है कि Blogger और WordPress की दुनिया में ब्लॉग्गिंग करने के लिए सबसे अच्छा कौन है.

तो चलिए दोस्तों सबसे पहला टॉपिक हमारा यही है, क्योंकि अगर आपको पता नहीं होगा कौन बढ़िया है तो आप अपना समय बर्बाद कर लेंगें.

Blogger vs WordPress in Hindi

1.अगर आप Blogger पर Blogging करते हैं तो Blogger Plateform एक दम फ्री है क्योंकि यह Google का सर्विस है और Google ने लोगों के लिए यह प्लेटफोर्म बिलकुल फ्री बनाया है जिससे लोग Blogging करके पैसा कमा सके और उन्हीं पैसे में कुछ पैसे का फायदा Google को भी मिल सके.

Google आपको Free में Domain और Hosting देता है जिससे आप अपना ब्लॉग बनाकर ब्लॉग्गिंग कर सकते हैं, अगर आपको नहीं पता है Domain Name Kya Hai तो आप हमारा ये पोस्ट पढ़ सकते हैं.

इसके अलावा होस्टिंग का मतलब आपका मेमोरी जिसमे आप अपना आर्टिकल पोस्ट करते हैं, एक प्रकार से यह एक जगह होता है जिसमे आप कुछ भी अपलोड करते हैं तो वो उसी मेमोरी में जाकर सेव रहता है.

Blogger में जो आपको फ्री का Domain मिलता है वो कुछ इस प्रकार रहता है xyz.blogspot.com, यानि कि जो xyz है वो आपके ब्लॉग का नाम होता है और जो उसके आगे Blogspot.com है वो Extention है.

2.अगर हम WordPress की बात करे तो इसमें आपको पैसा देना होता है, इसके लिए आपको अलग से Domain और Hosting खरीदना पड़ता है.

इसके अलावा जब आप अलग से होस्टिंग खरीदते हैं तो इसमें लिमिटेशन होता है मतलब उसमे फिक्स होता है कि आपको कितना GB जगह और कितना GB Bandwith और कितना वेबसाइट बना सकते हैं.

लेकिन अगर यही चीज ब्लॉगर में देखा जाये तो यहाँ कोई लिमिटेशन नहीं है, यहाँ पर आपको सभी चीजें अनलिमिटेड मिलती हैं आप चाहे जितने ब्लॉग बना सकते हैं.

आपके ब्लॉग पर चाहे जितना ट्रैफिक आ जाये, इसका आपको किसी भी प्रकार का टेंशन नहीं लेना है लेकिन अगर यही WordPress में देखा जाये तो यह Bandwith के ऊपर depend रहती है, ,मतलब जितना ज्यादा आपको Bandwith मिलेगा उतना ज्यादा आपका ब्लॉग ट्रैफिक संभाल पायेगा.

3.Blogger में आप ज्यादा कस्टमाइज नहीं कर सकते हैं अगर आपको कोडिंग आती है तो आप एक अच्छा डिजाईन का ब्लॉग बना सकते हैं, बाकी इसमें थीम के ऊपर है जितना अच्छा आप Theme लगायेंगे उतना अच्छा आप अपने ब्लॉग को बना पायेंगें.

इसके अलावा अगर यही चीज WordPress में देखा जाये तो आप अपने ब्लॉग को अच्छा से अच्छा डिजाईन दे सकते हैं मतलब जैसा चाहे आप वैसा ब्लॉग बना सकते हैं क्योंकि इसमें Theme के अलावा एक से एक Plugin आते है जिसे आप tool भी कह सकते हैं.

इसके मदद से हम एक अच्छा ब्लॉग बना सकते हैं, इसके अलावा WordPress में आपको बहुत से फ्री और बहुत से Paid Theme मिल जाते हैं जिन्हें आप यूज़ करके अच्छा वेबसाइट बना सकते हैं.

4.अगर SEO के मामले में ब्लॉगर की बात की जाये तो आप अपने ब्लॉगर ब्लॉग पर उतना अच्छा SEO नहीं कर सकते हैं अगर आपको काफी ज्यादा एक्स्प्रिएंस है तभी आप कर पायेंगें.

और यही चीज WordPress में देखा जाये तो आप बहुत ही आसानी से कर सकते हैं क्योंकि इसमें SEO करने के लिए एक से एक Plugin आते हैं जैसे-Rankmath, Yoast etc.

Blogger vs WordPress in Hindi पूरी जानकारी

5.बहुत से लोगो के मन में होता है ब्लॉगर रैंक नहीं करता है तो दोस्तों ऐसा कुछ भी नहीं है बहुत से लोग ब्लॉगर पर ब्लॉग बनाके बहुत सारा ट्रैफिक ला रहे हैं और बहुत सारा पैसा भी कमा रहे हैं.

2015 के पहले लगभग 95% लोग ब्लॉगर पर ही ब्लॉग बनाकर ब्लॉग्गिंग करते थे वो तो आज के डेट में लोग कहते हैं कि वर्डप्रेस पर ब्लॉग्गिंग करो नहीं तो रैंक नहीं करेगा.

क्योंकि उन्हें होस्टिंग बेचना है, आपने सुना होगा ज्यादातर लोग कहते हैं कि आप हमारे लिंक से खरीद सकते हो साथ में ये मिलेगा और वो मिलेगा.

और ज्यादातर लोग कहते हैं कि आप मेरे लिंक से होस्टिंग लो मैं Paid थीम और Plugin फ्री में दे दूंगा, देखो होस्टिंग बेचना बुरी बात नहीं है लेकिन ये conform होना चाहिए कि होस्टिंग किसको लेना चाहिए और किसको नहीं लेना चाहिए, इसके बारे में हम आगे बात करेंगें.

कुल मिलाकर अगर आप अच्छे से काम करते हैं चाहे वो ब्लॉगर हो या वर्डप्रेस आपका ब्लॉग रैंक करेगा, आपका ब्लॉग काम करने के ऊपर रैंक करता है.

6.इसके अलावा बहुत से लोगों के मन में ये भी होता है कि अगर हम ब्लॉगर पर काम करते हैं तो क्या हमारा Adsense Account Approved होगा या नहीं.

तो दोस्तों जैसा कि मैं आपको बता दूँ आप चाहे ब्लॉगर पर काम कीजिये या वर्डप्रेस पर काम कीजिए Adsense का Approval दोनों प्लेटफोर्म पर मिलता है बस आपका content सही होना चाहिए.

इसके अलावा अगर ब्लॉगर पर Blogspot.com के साथ काम करते हैं तो हो सकता है आपको अप्रूवल मिलने में कुछ महीने लग जाये इसलिए आपको कम से कम एक .com या .in डोमेन नाम लेकर काम करना चाहिए.

इससे आपके ब्लॉग की ब्रांड भी बनती है और अप्रूवल भी जल्दी मिलता है, इसके अलावा भी आपको कई चीजों पर ध्यान पड़ता है जिससे आपको अप्रूवल लेने में मदद मिलती है.

Read more-

Blogging se Paise Kaise Kamaye 7 तरीके

Blogging Niche Kya Hai Top 5 Niche Part-2

Google Adsense se Paise Kaise Kamaye

Conclusion

अगर आपने कभी कोई पोस्ट, आर्टिकल लिखा ही नहीं है, यानि कि आप एकदम नए हैं तो सबसे पहले आपको ब्लॉगर पर अपना ब्लॉग बनाकर काम करना चाहिए.

इसमें कम से कम 3 महीने लिखने पर ध्यान देना चाहिए जिससे आपको लिखना आ जाये लेकिन ध्यान रहे कम से कम एक Custom Domain आपको लेना चाहिए जैसे- .com या .in

अगर आप Custom Domain लेने जायेंगे तो आपको 1000 से 1500 के बीच पड़ सकता है, ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूँ पहली बात तो आपका ब्लॉग प्रोफेशनल लगने लगता है और दूसरी बात आपको Adsense का अप्रूवल जल्दी मिल जाता है और तीसरी बात आप चाहे जब अपने ब्लॉग को वर्डप्रेस पर माइग्रेट कर सकते हैं.

अगर आप पहले से पोस्ट लिखना जानते हैं और आपके पास पैसे है आप खर्चा कर सकते हैं तो आपको वर्डप्रेस से शुरू करना चाहिए क्योंकि आपके सभी कामों को आसान बना देता है.

जो काम आपको ब्लॉगर पर करने के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ता है वो काम आप वर्डप्रेस में Plugin की मदद से कुछ मिनटों में कर सकते हैं.

लेकिन इसमें आपको Domain लेना ही पड़ता है साथ में आपको होस्टिंग भी लेना पड़ता है आपको कौन सा होस्टिंग और कहाँ से लेना चाहिए इसके ऊपर मैं एक डिटेल्स पोस्ट लिखूंगा.

इसके अलावा मैं आपको एक ऐसा होस्टिंग बताऊंगा जहाँ से आपको Domain और Hosting एक साथ मिल जायेगा, इसमें ख़ास बात ये है कि जितने में आप एक डोमेन खरीदते हैं उतने में आपको डोमेन और होस्टिंग दोनों मिल जायेगा.

तो दोस्तों ये था Blogger vs WordPress in Hindi, उम्मीद करता हूँ कि ये जानकारी आपको अच्छी लगी होगी.

Thanks for Reading.

Leave a Reply